त्रिशला देवी के आँगन में | Trishla Devi Ke Aangan Me

dev
#1

त्रिशला देवी के आँगन में चलो चलें सांवरिया,
चलो चलें सांवरिया, ज्ञान की भर लें गागरिया ॥

महारानी ने लाला जायो, धन्य घड़ी है आज;
सबको इच्छित दान दीना, सिद्धार्थ महाराज ॥(1)

ऐरावत हाथी लिये, प्रभु इन्द्र-इन्द्राणी आय;
पाण्डुक गिरी पर जाय के, प्रभु को न्हवन कराय॥(2)

सुन-सुन रे साजन मेरे, मत न देर लगाय;
बीती घड़ी सुहावनी, लौट के फिर न आय॥(3)

1 Like

#2

What’s d tune?

0 Likes