अनंत प्रदेशी पुद्गल द्रव्य

पुद्गल द्रव्य को जब बहुप्रदेशी के रूप में कहा, तब उसे संख्यात, असंख्यात और अनंत प्रदेशी रूप में स्वीकार किया है। यहां प्रश्न है कि असंख्यात प्रदेशों वाले लोक में अनंत प्रदेशी पुद्गल किस रूप में अवस्थित होगा?

2 Likes

लोकाकाश के एक प्रदेश में अनेक पुद्गल परमाणु वास कर सकते हैं।

असंख्यात प्रदेशी लोक => “असंख्यात” without overlap.

अनंत प्रदेशी पुद्गल => “अनंत” with overlap.

Correct me if wrong.

1 Like
  • इसके अनुसार अनंत प्रदेशी पुद्गल बद्ध रूप हुआ, और बद्ध पुद्गल में दो परमाणु हो तो भी एक प्रदेश में रह सकता है ।

  • कोई भी एक पुद्गल द्रव्य अनंत प्रदेशी भी हो और बद्ध न हो, ऐसा संभव नहीं ।

4 Likes

अतः हर प्रदेश पर बद्ध पुद्गल के अनंत परमाणु होते है?

हो सकते है - ये स्पष्ट है ।

होते ही है - ये ज्ञात नहीं ।