नित्य निगोद से संबंधित प्रश्न


#1

नित्य निगोद क्या है? वहा आयु की क्या सीमाएं है?


#3

जहाँ जीव अनादि काल से अन्य पर्याय(प्रत्येक वनस्पति +४स्थावर और त्रस पर्याय ) धारण किये बिना जिस निगोद में रहता आ रहा है ,उसे नित्य निगोद कहते है ।
०यहॉ पर्याप्त निगोदियाँ जीव की आयु अंतरमूर्त है ।
०अपर्याप्त निगोदियाँ जीव की आयु क्षुद्र भव(एक श्वास में अठारह बार ) प्रमाण है ।-(एक श्वास में अठ दश बार यह तथ्य इनकी अपेक्षा है)


#4

@aman_jain Can a jeev from Nitya Nigodh escape from Nitya Nigodh? Can it take birth somewhere else?


#5

नित्य निगोद से 6 महीने आठ समय में 608 जीव निकलते है ,और उनमें से एक आचार्य के मतानुसार बादर निगोदिया जीव सीधे संज्ञी पचेंद्रिय पर्याय धारण करके उसी भव से मोक्ष जा सकता है ,और सूक्ष्म निगोदिया जीव मुनि पर्याय धारण कर सकता है


और अन्य आचार्य के अनुसार बादर व सूक्ष्म दोनो मनुष्य पर्याय धारण कर उसी भव से मोक्ष जाते है ।


#6

@aman_jain Thank you for answering these.