कुण्डल पुर में वीर हैं जन्मे | Kundalpur Main Veer Hain Janme

dev
mahaveer
#1

कुण्डल पुर में वीर हैं जन्मे सबके मन हर्षाये |
प्रकट हुए तीर्थंकर जग में देव बधाई गायें ||
वीरा वीरा गायें, सब मिल वीरा वीरा गायें, सारे जय महावीरा गायें |

सच होगये त्रिशला मैय्या ने देखे थे जो सपने |
आगए जग कल्याण करन को वीर प्रभुजी अपने |
देवियाँ आवें, पलना झुलावें, इंद्र सुमन बरसाए || (1)

ऐरावत हाथी पे स्वर्ग से इंद्र देवता आये |
सुमेरु पर्वत पर स्वामी का कलशाभिषेक कराएं |
हृदय खोलकर कुबेर ने भी रतन बहुत बरसाए || (2)

वर्द्धमान के दर्शन करने सुर नर मुनि सब आये |
करें वंदना बारी-बारी संग में चॅवर ढुलायें |
लिखें बेखबर भक्ति भाव से हम सब भजन सुनाएँ || (3)

2 Likes