गुरु ने पिलाया जो ज्ञान पियाला | Guru ne pilaya jo gyaan piyala

budhjanji

#1

गुरु ने पिलाया जो ज्ञान पियाला || टेक ||

भइ बेखबरी परभावां की, निजरस में मतवाला || १ ||

यों तो छाक जात नहिं छिन हूं, मिटि गये आन जंजाला || २ ||

अद्भुत आनन्द मगन ध्यान में, ‘बुधजन’ हाल सम्हाला || ३ ||

Artist : कविवर पं. बुधजन जी