महासत्ता और अवांतर सत्ता किसे कहते हैं?

महासत्ता और अवांतर सत्ता किसे कहते हैं?

नियमसार / तात्पर्यवृत्तिगाथा 34 समस्तव्सतुविस्तारव्यापिनी महासत्ता, …समस्तव्यापकरूपव्यापिनी महासत्ता,…अनंतपर्यायव्यव्यापिनी महासत्ता।

= समस्तवस्तुविस्तारमें व्यापनेवाली, अर्थात् छहों द्रव्यों व उनके समस्त भेद प्रभेदोंमें व्यापनेवाली तथा समस्त व्यापक रूपों (गुणों) में व्यापनेवाली तथा अनंत पर्यायोंमें व्यापनेवाली महासत्ता है।

पंचास्तिकाय संग्रह / तत्त्वप्रदीपिका / गाथा 8 प्रतिनियतवस्तुवर्तिनी स्वरूपास्तित्वसूचिकाऽवांतरसत्ता।

= प्रतिनियतवस्तुवर्ती तथा स्वरूपस्तित्वकी सूचना देनेवाली (अर्थात् पृथक्-पृथक् पदार्थका पृथक्-पृथक् स्वतंत्र अस्तित्व बतानेवाली) अवांतरसत्ता है।

संक्षेप में/-
संग्रह नय का विषय- महासत्ता (द्रव्य मात्र)
व्यवहार नय का विषय- अवान्तर सत्ता (जातिगत भेद वाले ६ द्रव्य)

3 Likes