प्रवचनसार गाथा 114

एकत्व, अनन्यत्व और अभिन्नत्व, इनमें क्या समानताएँ और असमानताएँ कहीं जा सकतीं हैं?

2 Likes