अपवाद मार्ग और उत्सर्ग मार्ग क्या है?

अपवाद मार्ग और उत्सर्ग मार्ग क्या है?
दोनोंमें क्या अंतर है ?

1 Like

http://www.jainkosh.org/wiki/अपवाद
:arrow_up:
देखे जैनकोष ।

सामान्य भाषा मे कहे तो उत्सर्ग मार्ग वो है ,
● जो बिना किसी shortcut के हो अथवा सीधे-सीधे मार्ग को उत्सर्ग मार्ग कहेंगे ।
जैसे - पहले सम्यग्दर्शन - अणुव्रतों का ग्रहण - पंच महाव्रत ।

● अपवाद मार्ग अर्थात shortcut , जब कोई different condition हो , तो जो राजमार्ग से भिन्न हो जाये , उसे अपवाद मार्ग कहेंगे ।
जैसे - प्रथम ही पंच महाव्रत - सम्यकदर्शन ।

3 Likes

Koi example de sakte hai?

जी ।
● जैसे किसी जीव ने सम्यकदर्शन की प्राप्ति बिना पहले मुनि अवस्था अंगीकार कर ली हो , और उसके पश्चात सम्यक्त्व का धारी हो । तो राज मार्ग तो था कि चतुर्थ गुणस्थान पूर्वक सप्तम गुणस्थान की प्राप्ति , परन्तु पहले से सीधा सातवें गुणस्थान की प्राप्ति , तो यह अपवाद मार्ग में गर्भित होगा ।

Check this for more info…
:arrow_down: