प्रस्तुत दोहे का अर्थ

सम्यकज्ञान चंद्रिका पीठिका के प्रारंभ में दिए हुए मंगलाचरण का अर्थ ज्ञात हो तो बतावें। 

कठिन शब्दों के शब्दार्थ भी लिखें, जिससे समझने में सरलता हो।

2 Likes