णमो अरहंताणं का अर्थ?

‘णमो अरहंताणं’ में अरहंताणं में षष्ठी विभक्ति है ? अगर है तो इसका अर्थ अरहंतो का नमस्कार है । ऐसा अर्थ बनेगा ? अरहंतों को नमस्कार अर्थ कैसे बनेगा ?
किसी ने ऐसा अर्थ किया है कि आणं का अर्थ आज्ञा है । अरहंतों की आज्ञा को नमस्कार हो । क्या ऐसा अर्थ भी हो सकता है ?

5 Likes

चतुर्थी विभक्ति है (4th). “के लिए” अर्थ लगेगा। (बहुवचन)

4 Likes

Ok …hn prakrit m 4th or 6th vibhakti same hoti h :sweat_smile:.

2 Likes

Doosra arth Jo h vo ho skta h ?? आणं का आज्ञा ?

Then if we apply to all, we should also say, Siddh ki aagya ko pranam. But, siddh give no aagya.

Better, take only one meaning. Arihant ke liye namaskar ho.

4 Likes