पानी छानने की विधि

पानी छानने की विधि क्या है, पानी की मर्यादा कितनी है बिलछाणी की विधि, किस ग्रंथ में इसका उल्लेख मिलता है आदि विस्तार से बताऐं।

3 Likes

इस वीडियो में सम्पूर्ण पानी छानने की विधि और बिलछानि/जिवानी करने की बताई गयी है :

5 Likes

पानी छानने की विधि वीडियो में स्पष्ट तरिके से समजाया है।
मर्यादा के विषय मे

  1. पानी छानने के बाद 48 min तक मर्यादित रहता है।

  2. पानी के छानने के बाद अंदर अनार का छिलका ,लौंग आदि जिससे पानी का स्पर्श रास गंध वर्ण बदल जाये तो उसकी मर्यादा 6 घंटे की हो जाती है। परंतु 6 घंटे के बाद यह पानी सड जाता है।छानकर भी पी नही सकते।
    परंतु अगर उसमे सफेद कपडा निचोड़ा जाय तो पानी सड़ता नही है और उसकी मर्यादा 6 घंटे की हो जाती है

  3. पानी को अच्छेसे उबालनेसे उसकी मर्यादा 24 घंटे की मर्यादा हो जाती है।सचीत त्याग प्रतिमा वाला नियम से उबला हुआ पानी ही पिता है।पानी को अचित करके ।

आज कल हम लोग जो नल के ऊपर थैली लगते है उसका हनखारा तो बहोत कम लोग निकालते है बाकी तो वो नल के ऊपर लटकती रहती है उसमे अन्छना पानी पिने से भी ज्यादा पाप लगता है।

.
(ज्ञानानंद श्रावकाचार)

4 Likes

धन्यवाद!!

1 Like