गंध हस्तिमहाभाष्य

गंध हस्ती महाभाष्य ग्रंथ 8000 श्लोक प्रमाण आचार्य समंतभद्र द्वारा रचित है।
किसी ने कहा है यह ग्रंथ strassberg (Germany)
के city लाइब्रेरी में देखा गया था। कोई वहां पर check करवा सके तो जिनवाणी की सेवा में योगदान दे।
कोई अन्य जानकारी हो तो देने की कृपा करें
:pray::pray::pray:

3 Likes

You mean Strasburg Germany?

1 Like

Yes…

I heard somewhere that गंध हस्ती महाभाष्य is explanation of only manglacharan of Tatvarth sutra. Perhaps it is of much more shlokas than you mentioned. Apta Mimamsa is the manglacharan of गंध हस्ती महाभाष्य.

2 Likes

Apta Mimansa is part of it, rest is lost.

2 Likes

श्री गंधहस्तिमहाभाष्य ग्रंथ जी जर्मनी में ही है, लेकिन ऐसा पता चला है कि वो उसके पिक्सादि भी लेने नहीं देते… और विशेष किसी को जानकारी हो तो सेंड करें.।

How the pages of shastra might have been preserved for so long time ?

what is the name of the museum, address? Is it publicly available to view?

I do not think it exists in its entirety. May be fragments…

1 Like