सातिशय मिथ्यादृष्टि

#1

सातिशय मिथ्यादृष्टि किसे कहते है?
अध्यात्म की भाषा मे उसे क्या कहते है?

1 Like
#2

करण लब्धि वाला जीव जो नियम से सम्यग्दर्शन प्राप्त करने वाला है,वह सातिशय मिथ्याद्रष्टि कहलाता है।
इसे अध्यात्म भाषा में शुध्दोपयोग की भावना वाला कहेंगें।

3 Likes
#3

जो मिथ्यादृष्टि जीव सम्यक्त्व के सन्मुख हो वह सातिशय मिथ्यादृष्टि है।
उसके परिणामों में निरंतर प्रतिसमय विशुद्धि बढ़ती जाती है और वह मिथ्यादृष्टि जीव गुण श्रेणी निर्जरा भी करता है।

साधारण मिथ्यादृष्टि जीव को निरतिशय मिथ्यादृष्टि कहते है।

4 Likes