मंत्र णमोकार हमें | Mantra Namokar Hame

मंत्र णमोकार हमें प्राणों से प्यारा।
यही वो जहाज जिसने लाखों को तारा।।

अरिहंतों को नमन हमारे,अशुभ कर्म अरि हनन करें।
सिद्धों के सुमिरन से आतम,सिद्धक्षेत्र को गमन करे।।
भव-भव में नहीं भ्रमें दोबारा ।।मंत्र...।।(1)

आचार्यों को आचार्यों तक,निर्मल निज आचार धरें।
उपाध्याय का ध्यान करें हम,संवर का सत्कार करें।।
सर्व साधु को नमन हमारा ।।मंत्र...।।(2)

इसी मंत्र से नाग-नागिनी,पद्मावती धरणेन्द्र हुए।
सेठ सुदर्शन को शूली से,मुक्ति मिली राजेन्द्र हुए।।
अंजन चोर का कष्ट निवारा ।।मंत्र...।।(3)

Artist - अज्ञात
2 Likes