Drumstick/ सहजन eatable or non-eatable

#1

Does anyone know if drumstick (सहजन) is eatable or non-eatable according to jain food habit?

2 Likes
#2

Why do you think it is not edible?

#3

I have heard that it contains त्रस जीव.

#4

Okay, don’t know then. We eat it and never saw any jiv in that

#5

त्रस जीव जरूरी नही आंखों से दिखे। एक बूंद बिना छन्ने पानी मे भी बहुत सारे त्रस जीव होते है। वीडियो देखके पता चल जाएगा।

2 Likes
#6

आपका कहना सही है। यह जीव नही दिखाई देते पर हो सकते हैं।
पर मुझे लगता है कि हरी सब्जियों के त्याग के पूर्व हमे उनसे होने वाले benefits देख लेने चाहिए वरना ऐसा होता है कि हम हरी सब्जियों का तो त्याग कर देते हैं पर फिर allopathic medicines लेनी पड़ती हैं जो अधिकतर nonveg होती हैं

1 Like
#7

मेरे हिसाब से ये ठीक नही। allopathy के बजाए आयुर्वेदिक दवाई भी तो ली जा सकती है। आचार्य विद्यासागर जी महाराज पहली प्रतिमा जब ही देते है, जब एलोपैथी दवाई का पूर्णतः त्याग हो।

मैं तो अपने experience से बता रहा हु। मेरी कोई प्रतिमा तो नही है, पर 7 साल से मैन एक गोली एलोपैथी की नही खाई।
एक injection जरूर लगाया था, जब मुझे kidney stone हुआ था। बाद में उसका भी regret hua tha. 1-2 महीने तक आयुर्वेदिक दवाई ली थी। दसलआक्षणी पर 1 दिन भक्ताम्बर विधान था , मंदिर जी मे। भक्ति करि थी, भक्ति का उद्देश्य दर्द से आराम पाना नही था, अगले दिन वो stone मेरे हाथ मे आ गया था।

Those who have Samyak Darshan knows that the body is not theirs. Moreover what happens to us, is because of the karma. Even if somebody to takes utmost care about how healthy the diet should be, may also have some incurable disease or may die because of an accident. Everything that happens is because of our past karmas. If we still have राग to this body, our travelling in the universe will never end.

#8

मैं वही कहना चाहती हूं कि हम ये ना करने लगे के सब्जियां तो छोड दे पर बीमार होने पर मांसाहारी दवाई ले। क्योंकि मेने अपने कुछ रिश्तेदारो को ही यह करते देखा है कि महाराज के कहने पर या जिनवाणी में कहि लिखा होने पर यह तो छोड़ देते हैं लेकिन heart, diabetes,BP के लिए allopathy ले रहे जो अभक्ष्य है

3 Likes
#9

Main moto should be this but if you are not enough strong and determined than it all changes when hou face all these things.